BREAKING NEWS
»विजडम ट्री स्कूल में बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम से समां बांधा »जन्माष्टमी 2019: कल कई सड़कों पर रूट डायवर्जन »एसटीएफ की टीम ने गैंगस्टरों को अवैध हथियार सप्लाई करने वाले सप्लायर को किया गिरफ्तार »नोएडा प्राधिकरण ने 36 अवैध दुकानें की सीज »नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने जन्माष्टमी के दृष्टिगत विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण किया
Sunday, Oct 20,2019
--Advertisement--

बिल्डर की धोखाधड़ी से परेशान रिटायर्ड अफसर करेंगे इच्छा मृत्यु की मांग

Wednesday, 14 August 2019, 12:32:00 PM : www.dainikgrenoexpress.com

गाजियाबाद। विश्वास बनाकर विश्वास जीतना और उसी विश्वास का कत्ल कर लाखों रुपए का गबन । ऐसा ही कुछ हुआ रेलवे के रिटायर्ड एक अफसर के साथ । 2017 में रेलवे से रिटायर्ड हुए अशोक कुमार ग़ाज़ियाबाद के निवासी है । जिन्होंने रिटायर्ड होने के बाद काम की तलाश की और उनकी मुलाकात हुई धर्मेंद्र नाम के लो राइज़ बिल्डर से जिसने पहले उनके भरोसे को जीता और 15 लाख रुपए लेकर 6 महीने में लौटाना का भरोसा दिया और लौटा भी दिए । और साथ ही उसके बनाये फ्लैट में छूट देने की बात भी कही । जिसके बाद रिटायर्ड अफसर को धर्मेंद्र बिल्डर पर भरोसा हो गया और बिल्डर का असली खेल शुरू हुआ । बिल्डर ने रिटायर्ड अफसर को अपने नए काम में जोड़ा और उनसे एक बार फिर 15 लाख रुपए और फिर 5 लाख रुपए लिए । जिसके एवज में बिल्डर ने 15 लाख का चेक भी दे दिया । जिसके बाद धीरे धीरे बिल्डर ने अपने धोखाधड़ी में फ़साता चला गया और जब बिल्डर के खेल को रिटायर्ड अफसर समझ पाते तब तक देर हो चुकी थी । बिल्डर ने अपने एक नए प्रोजेक्ट में दूकान देने के एवज में लिए लाखों रुपए लिए लेकिन वो पूरा प्रोजेक्ट ही किसी तीसरे को बेच दिया । साथ ही पीड़ित का कहना है कि बिल्डर ने उनपर जबरन अपने बनाये सस्ते फ्लैट को उन्हें महंगे दामो को लगाकर पीड़ित को अपने नाम कराने के लिए कहा । जिसके बाद 30 लाख रुपए के 2 फ्लैट को पीड़ित को 50 लाख से भी ज्यादा कीमत बताकर पीड़ित के जबरन नाम करवाये ताकि वो पैसे न मांगे । उससे पहले पीड़ित को दिए चेक को 3 बार बैंक में पेश किया गया जो की रिजेक्ट हो गया । जिसके बाद बिल्डर ने सारा खेल किया और पीड़ित के 8 लाख रुपए का गबन कर लिया और साथ ही 20 लाख से भी ज्यादा महंगे फ्लैट पीड़ित को बेच दिए । पीड़ित की माने तो वो फ्लैट नहीं रखना चाहते और उन्होंने लगातार बिल्डर से गुजारिश की वो अपने फ्लैट वापस लेकर उन्हें पैसे दे दे । अब बिल्डर न तो फ्लैट वापस ले रहा है और ना ही गबन किये 8 लाख रुपए वापस दे रहा है । जिसके चलते पीड़ित ने लगातार सम्बंधित चौकी थानों के चक्कर काट लिए लेकिन कुछ नहीं हुआ । हार कर पीड़ित ने मुख्यमंत्री हेल्पलाइन पर अपनी शिकायत दर्ज कराई जिसके बाद नॉएडा के एस एस पी के जरिये सावेरी चौकी तक मामला पहुंच गया लेकिन वहां से भी पीड़ित का मामला दर्ज नहीं हो रहा और अब पीड़ित अपने पैसे वापस लेने के इधर उधर चक्कर काट रहे है । साथ ही पीड़ित ने अब मिडिया से गुहार लगाई है कि उनका केस दर्ज हो जाये और उनको न्याय मिले । नहीं तो उनकी जीवन की जमा पूंजी वापस नही मिली तो वो अधिकारियों से इच्छा मृत्यु की मांग करेंगे।

 
Copyright © 2016 All rights reserved by : Greno Express
Powered by : FlagBits Technologies