BREAKING NEWS
»विजडम ट्री स्कूल में बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम से समां बांधा »जन्माष्टमी 2019: कल कई सड़कों पर रूट डायवर्जन »एसटीएफ की टीम ने गैंगस्टरों को अवैध हथियार सप्लाई करने वाले सप्लायर को किया गिरफ्तार »नोएडा प्राधिकरण ने 36 अवैध दुकानें की सीज »नोएडा प्राधिकरण की सीईओ रितु माहेश्वरी ने जन्माष्टमी के दृष्टिगत विभिन्न क्षेत्रों का भ्रमण किया
Saturday, Feb 29,2020
--Advertisement--

RBI ने नहीं की ब्याज दरों में कटौती, घटाया आर्थिक विकास का अनुमान

Wednesday, 04 October 2017, 01:28:00 PM : www.dainikgrenoexpress.com

आरबीआई ने रेपो रेट को 6 फीसद पर ही बरकरार रखने का फैसला किया है नई दिल्ली (जेएनएन)। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने अपनी समीक्षा बैठक में ब्याज दरों को यथावत रखने का फैसला किया है। आरबीआई ने रेपो रेट को 6 फीसद पर और रिवर्स रेपो रेट को 5.75 फीसद पर बरकरार रखा है। इसके साथ ही आरबीआई ने इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान घटाकर 6.7 फीसद कर दिया है। आरबीआई के इस फैसले से अब सस्ते लोन का इंतजार और बढ़ गया है। गौरतलब है कि एमपीसी की अगली बैठक 5-6 दिसंबर को होगी। बैंक रेट में कोई कटौती नहीं, एसएलआर में आई कमी: आरबीआई ने बैंक रेट और एमएसएफ (MSF) को 6.25 फीसद पर बरकरार रखा है और एसएलआर रेट में 0.5 फीसद की कटौती कर इसे 19.5 फीसद कर दिया गया है। वहीं जीवीए ग्रोथ अनुमान को घटाकर 7.3 फीसद से 6.7 फीसद कर दिया गया है। इकोनॉमिक ग्रोथ का अनुमान घटाया: मुख्य नीतिगत दरों को यथावत रखने के साथ ही आरबीआई ने इकोनॉमिक ग्रोथ (आर्थिक विकास) का अनुमान घटाकर 6.7 फीसद कर दिया है जो कि पहले 7.3 फीसद का था। महंगाई पर आरबीआई ने क्या कहा: वहीं महंगाई के मोर्चे पर अपना रुख व्यक्त करते हुए आरबीआई ने अक्टूबर मार्च अवधि के दौरान सीपीआई इन्फ्लेशन के 4.2 से 4.6 फीसद तक रहने का अनुमान लगाया है। आरबीआई ने कहा कि महंगाई दर को 4 फीसद पर बनाए रखना मुख्य लक्ष्य है। सिर्फ एक सदस्य ने जताई असहमति: मौद्रिक समीक्षा नीति के सिर्फ एक सदस्य ने इस फैसले पर असहमति दर्ज कराई है। एमपीसी सदस्य ढोलकिया का मानना था कि आरबीआई को नीतिगत दरों में 0.25 फीसद की कटौती करनी चाहिए थी। आपको बता दें कि इंडस्ट्री समेत सरकार को भी इस बार आरबीआई से ब्याज दरों में कटौती की उम्मीद थी, हालांकि कुछ बैंकर्स ने यह कहा था कि आरबीआई नीतिगत दरों में बदलाव नहीं करेगा। गौरतलब है कि आरबीआई ने अगस्त महीने में हुई अपनी समीक्षा बैठक के दौरान रेपो रेट को 6.25 फीसद से घटाकर 6 फीसद कर दिया था।

 
Copyright © 2016 All rights reserved by : Greno Express
Powered by : FlagBits Technologies